सोमवार, दिसम्बर ११, २०१७
लेफ्टिनेंट कर्नल राजन अग्रवाल ...
लेफ्टिनेंट कर्नल राजन अग्रवाल ने साइबर अपीलीय अधिकरण नई दि...
.................................................
डॉ एस एस चाहर ने साइबर अपीलीय ...
डॉ एस एस चाहर ने साइबर अपीलीय अधिकरण नई दिल्ली में सदस्य (...
आप यहां है: मुख्य पृष्ठ > संविधान

संविधान

साइबर अपीली न्यायाधिकरण की संरचना सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, २००० के ४९  खंड के अंतर्गत प्रदान की गई है| शुरू में ट्रिब्यूनल  में केवल एक ही व्यक्ति होता था जो पीठासीन अधिकारी के रूप में केन्द्र सरकार की अधिसूचना के माध्यम से नियुक्त होता था | इसके बाद अधिनियम में वर्ष २००८ में संशोधन किया गया जिसके द्वारा खंड ४९ जो की  साइबर अपीलीय न्यायाधिकरण की संरचना के गठन के बारे में है , बदल गया है| संशोधित धारा के अनुसार ट्रिब्यूनल एक अध्यक्ष और अन्य सदस्यों की उतनी संख्या से मिलकर बनेगी जो केन्द्रीय सरकार  सरकारी राजपत्र में अधिसूचना द्वारा नियुक्त कर सकते हैं | ट्रिब्यूनल के अध्यक्ष और सदस्यों का चयन केन्द्र सरकार द्वारा भारत के मुख्य न्यायाधीश के साथ परामर्श करके किया जाता है | ट्रिब्यूनल के पीठासीन अधिकारी को अब अध्यक्ष के रूप में जाना जाता है |






© साइबर अपील न्यायाधिकरण, भारत सरकार द्वारा सामग्री का स्वामित्व, अद्यतन और बनाए रखना|
मई २३, २०१७ को ३:३१ शाम अंतिम बार अद्यतित